बेंजामिन नेतन्याहू ने किया दक्षिणपंथी नोआम पार्टी से गठबंधन, अब पीएम बनने का रास्ता हुआ और करीब

दुनिया भारत
इजरायल के पूर्व पीएम बेंजामिन नेतन्याहू (फाइल फोटो)- India TV Hindi
Image Source : AP इजरायल के पूर्व पीएम बेंजामिन नेतन्याहू (फाइल फोटो)

Benjamin Netanyahu Israel: इजरायल के भावी प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की लिकुड पार्टी ने घोर दक्षिणपंथी नोआम पार्टी के साथ गठबंधन किया है। दोनों पार्टियों ने गठबंधन के बाद एक समझौता पत्र पर हस्ताक्षर भी किया। इससे नेतन्याहू इजरायल के इतिहास में सबसे घोर दक्षिणपंथी सरकार बनने की ओर एक कदम और आगे बढ़ गए हैं। लिकुड पार्टी ने रविवार को यह घोषणा की है। समझौते के तहत नोआम के नेता और इसके एकमात्र विधायक एवी माओज प्रधान मंत्री कार्यालय में उप मंत्री के रूप में काम करेंगे और राष्ट्रीय यहूदी पहचान प्राधिकरण नामक एक नई एजेंसी के प्रभारी होंगे।

समाचार एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार माओज नेटिव के प्रभारी भी होंगे, जो एक सरकारी ब्यूरो है। यह पूर्व सोवियत गणराज्यों में यहूदियों के साथ संपर्क बनाए रखता है और उन्हें इजरायल में प्रवास करने के लिए प्रोत्साहित करता है। माओज इजराइल की यहूदी पहचान के एक मजबूत समर्थक हैं और विश्वविद्यालयों, संगीत कार्यक्रमों और सार्वजनिक परिवहन सहित सार्वजनिक स्थानों पर महिलाओं व पुरुषों के बीच लिंग भेद जैसे यहूदी धार्मिक कानूनों के समर्थक हैं।

इजरायल में सबसे लंबे समय तक पीएम रहकर नेतन्याहू ने की सेवा

नवंबर के मध्य में नेतन्याहू को एक नई गठबंधन सरकार बनाने के लिए अनिवार्य किए जाने के बाद यह लिकुड पार्टी का दूसरा गठबंधन समझौता है। सप्ताहांत में लिकुड पार्टी ने एक बयान में कहा कि उसने इतामार बेन-गवीर के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं, जो एक चरमपंथी राजनीतिज्ञ हैं, जिनके नेतन्याहू की सरकार में राष्ट्रीय सुरक्षा मंत्री बनने की उम्मीद है। नेतन्याहू, इजरायल के सबसे लंबे समय तक सेवा करने वाले प्रधान मंत्री हैं, जिन्हें सिर्फ डेढ़ साल पहले हटा दिया गया था और भ्रष्टाचार के आरोपों पर मुकदमा चल रहा है। उनकी गठबंधन सरकार में शामिल होने के बारे में तीन अन्य दलों के साथ बातचीत चल रही है। लगभग चार वर्षों के पांच चुनावों के बाद 1 नवंबर को हुए संसदीय चुनावों में नेतन्याहू और उनके सहयोगियों ने 120 में से 64 सीटों पर जीत हासिल की।
इजराइली कानून के तहत नेतन्याहू को दिसंबर के मध्य की समय सीमा से पहले सरकार का गठन करना होगा।

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Source