वायरस फैलाने के आरोपी चीन ने की चोरी, हैकरों ने कोविड राहत कोष से गायब किए 2 करोड़ डॉलर, इस देश को लगाई भारी चपत

दुनिया भारत
चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग- India TV Hindi
Image Source : AP चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग

चालाकी और जालसाजी के लिए मशहूर चीन अब चोरी भी करने लगा है। सीक्रेट सर्विस ने सोमवार को कहा कि चीनी हैकरों ने 2020 के बाद से लाखों डॉलर के अमेरिकी कोविड राहत कोष की चोरी की है। सीक्रेट सर्विस ने बाकी की जानकारी देने से इनकार कर दिया है लेकिन एक रिपोर्ट की पुष्टि की है, जिसमें कहा गया है कि जो चीनी हैकिंग टीम कथित तौर पर जिम्मेदार है, वह सुरक्षा अनुसंधान समुदाय के भीतर APT41 या Winnti के रूप में जानी जाती है। APT41 एक  साइबर अपराधी समूह है। विशेषज्ञों के अनुसार, यह सरकार समर्थित साइबर घुसपैठ और वित्तीय डाटा चोरी से जुड़ा काम करता है। 

सॉफ्टवेयर विकसति करने वाली कंपनियों, दूरसंचार प्रदाताओं, सोशल मीडिया कंपनियों और वीडियो गेम डेवलपर्स सहित 100 से अधिक कंपनियों की जासूसी करने के लिए अमेरिकी न्याय विभाग ने साल 2019 और 2020 में हैकिंग समूह के कई सदस्यों पर आरोप लगाया था। पूर्व डिप्टी अटॉर्नी जनरल जेफरी रोसेन ने कहा, “अफसोस की बात है कि चीनी कम्युनिस्ट पार्टी ने साइबर अपराधियों के लिए चीन को सुरक्षित बनाने का एक अलग रास्ता चुना है। ये अपराधी चीन के बाहर कंप्यूटरों पर हमला करते हैं और बौद्धिक संपदा की चोरी करते हैं।”

वाशिंगटन में चीन के दूतावास ने एक बयान में कहा कि चीन ने हमेशा “साइबर चोरी और हैकिंग के सभी रूपों का दृढ़ता से विरोध किया है और उन पर कार्रवाई की है।” उसका कहना है कि साइबर सुरक्षा को लेकर देश के खिलाफ “आधारहीन आरोप” लगाए जा रहे हैं।

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Source