जंग की आग में जल रहे दोनों देश, यूक्रेन ने रूस के मिलिट्री हेडक्वार्टर पर किया हमला, कई लोगों की मौत, जानिए 5 बड़ी बातें

दुनिया भारत
रूस के मिलिट्री हेडक्वार्टर पर हुआ हमला - India TV Hindi
Image Source : AP रूस के मिलिट्री हेडक्वार्टर पर हुआ हमला

रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध को कुछ ही दिनों में 10 महीने का वक्त पूरा हो जाएगा। इस बीच रविवार को पूर्वी यूक्रेन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि यूक्रेन की सेना ने रूस के प्राइवेट वेगनर मिलिट्री ग्रुप के हेडक्वार्टर पर हमला किया है। जिसमें कई लोगों की मौत हो गई है। टेलीग्राम चैनलों पर मलबे में तब्दील एक इमारत की तस्वीरें शेयर की गई हैं।

रूस और यूक्रेन युद्ध से जुड़े 5 बड़े पॉइंट जान लेते हैं-

1. पूर्वी यूक्रेन में एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि यूक्रेन की सेनाओं ने रविवार को उस होटल पर हमला किया है, जहां रूसी प्राइवेट वेगनर मिलिट्री ग्रुप के सदस्य थे। रूस के कब्जे वाले लुहांस्क क्षेत्र में ये हमला हुआ है। जिसके गवर्नर ने यूक्रेनी टेलीविजन चैनल को बताया कि हमलों में कई रूसियों की मौत हो गई है। 

2. गवर्नर ने मरने वालों का आंकड़ा नहीं बताया है। उन्होंने कहा, “उनमें से बड़ी संख्या में लोगों की मौत हुई है। मुझे यकीन है कि जिनकी जान बच गई है, उनमें से कम से कम 50 फीसदी की चिकित्सकीय देखभाल लेने से पहले मौत हो जाएगी।” यूक्रेनी मीडिया के साक्षात्कार वाली एक रिपोर्ट का हवाला देकर गवर्नर द्वारा कही ये बातें बताई गई हैं।

3. रूस का वेगनर ग्रुप एक निजी कॉन्ट्रैक्टर है, जो रूसी राष्ट्रपति कार्यालय क्रेमलिन के काफी करीब है। वेगनर बलों को यूक्रेन के विभिन्न हिस्सों में लड़ने के लिए भी जाना जाता है और यह अफ्रीका के कई देशों में भी तौनात है।

4. इस बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति व्लोदिमीर जेलेंस्की ने रविवार को कहा कि यूक्रेन के शीर्ष सुरक्षा अधिकारियों ने सात वरिष्ठ पादरियों के खिलाफ दंडात्मक उपाय करने का आदेश दिया है। ये कार्रवाई इसलिए की गई है क्योंकि इस रूढ़िवादी चर्च की एक शाखा पर मास्को के साथ लंबे समय से संबंध रखने के आरोप हैं। पादरी यूक्रेन पर 10 महीने से जारी हमले के बावजूद रूस के प्रति सहानुभूति रखने के लिए जाने जाते हैं।

5. कथित तौर पर कानूनी सलाहकारों की एक अंतरराष्ट्रीय टीम यूक्रेन के कब्जे वाले शहर खेरसॉन में स्थानीय अभियोजकों के साथ काम कर रही है। उन्होंने रूसी बलों द्वारा कथित यौन अपराधों के सबूत इकट्ठा करना शुरू कर दिया था।

Latest World News

Source