कोरोना की मार, GMR ग्रुप ने सैलरी में 50 फीसदी की भारी कटौती की

अन्य

मुंबई
एयरपोर्ट मेंटिनेस समेत विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत जीएमआर समूह () ने कोविड-19 संकट () के मद्देनजर अपने कर्मचारियों के वेतन में 50 प्रतिशत तक की कटौती की है। एक सूत्र ने मंगलवार को यह जानकारी दी। सूत्र ने बताया कि उच्च पदों पर वेतन में सबसे अधिक कटौती की गई है। बता दें कि GMR Hyderabad International Airport Limited में इस ग्रुप की हिस्सेदारी 63 फीसदी के करीब है। देश-दुनिया में एयरपोर्ट फसिलटी मेंटिनेंस के काम में आगे है। कंपनी ने सैलरी री-स्ट्रक्चरिंग का फैसला किया है
एक सूत्र ने कहा, ‘संशोधित ढांचे के तहत कंपनी ने कर्मचारियों के सीटीसी (Cost to Company) से वैरिएबल को हटा दिया है। इसके बदले में शामिल किया गया है। इसे विशेष वैरिएबल की तरह माना जाएगा। सूत्र ने कहा कि इससे वरिष्ठ और शीर्ष प्रबंधन सहित विभिन्न श्रेणियों के कर्मचारियों का वेतन 50 प्रतिशत तक घट गया है। यह कटौती मई, 2020 से लागू है। इस बारे में भेजे गए ई-मेल के जवाब में जीएमआर समूह के प्रवक्ता ने इस घटनाक्रम की पुष्टि करते हुए कहा कि कर्मचारियों के वेतन का पुनर्गठन (Restructuring of salaries)किया गया है। हवाई यात्रियों की संख्या घटेगी तो रेवेन्यू में होगी गिरावट
प्रवक्ता ने कहा कि कोविड-19 की वजह से बुनियादी ढांचा-उद्योग क्षेत्र के समक्ष आए संकट के मद्देनजर कारोबारी प्रदर्शन से जुड़ा विशेष वैरिएबल जोड़ा गया है। मौजूदा बाजार स्थितियों के मद्देनजर यह कदम उठाया गया है। हाल में उद्योग की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि दुनियाभर के हवाईअड्डों के यात्रियों की संख्या में इस साल 4.6 अरब से अधिक की गिरावट आएगी। इससे उनकी आमदनी में 97 अरब डॉलर या 7.3 लाख करोड़ रुपये की कमी आएगी।

Source